पद्मासन कैसे करे , इसके क्या लाभ है ?

एक जगह पर बैठे-बैठे हमारा शरीर आलस्य से भर जाता है।  दरसल हम जिस तरह उठते- बैठते है ,उस तरह उठने-बैठने में पहले तो हमें अच्छा लगता है , पर जब शरीर को इसकी आदत पड़ जाती है। तब जाकर हमें इसका एहसास होता। ना हम ठीक से बैठ पाते है और ना ही चल पाते है ,क्योंकि शरीर को अब वैसेही उठने बैठने की आदत होती है। आज मैं आपको एक ऐसे आसन के बारे में बताने जा रहा हु। जिसे नियमित करने से आप सदैव अपने आप को निरोगी और एनर्जेटिक महसूस करेंगे। इस आसन का नाम पद्मासन है , इसे गुप्त पद्मासन भी कहा जाता है. इसे करने से व्यक्ति का शरीर कमल की भाति सुंदर बन जाता है इसलिए इसे "कमलासन" भी कहा जाता है। पश्चिम में यह आसन "Lotus Position" के नाम से विख्यात है।  ध्यान धारणा के लिए यह एक सर्वोत्तम आसन है।



Padmasana, Lotus Pose | पद्मासन योग 


Padmasana, Lotus Pose | पद्मासन योग



  1. पद्मासन करने के लिए किसी शांत ,हवादार और स्वच्छ स्थान का चुनाव करे।
  2. निचे जमीन पर चटाई बिछाकर सहजासन में बैठ जाए। 
  3. अपने दिमाग और शरीर को रिलैक्स करे। 
  4.  बाए पैर को घुटने से मोड़कर अपनी दायी जांघ पर रखे। 
  5. ठीक इसीतरह अपना दाया पैर मोड़कर अपनी बायीं जांघ पर रखे।
  6. दोनों पैरो के तलवो को कुछ इस प्रकार रखे की वो पेट से सटे रहे। 
  7. अभ्यास करते समय ध्यान रखे. की आपका मेरुदंड (रीढ़ की हड्डी ) एकदम सीधी रहे। दोनों पैरों को जांघ पर रखने के बाद भी, आपकी जांघ एवं घुटने जमीन से सटे होने चाहिए।
  8.  हाथों से ज्ञान मुद्रा बनाये (अपने अंगूठे और तर्जनी ऊँगली को मिलाकर ज्ञान मुद्रा बनती है।  ) 
  9. आँखे  बंद करके , मेरुदंड ,छाती और गर्दन को सीधा रखते हुए अपना ध्यान अपने दाएं पैर के अंगूठे पर केंद्रित करने का प्रयास करे। 
  10. इस अवस्था में आप अपने मन की अवचेतन शक्ति को बढ़ा सकते है।
  11. १० मिनट तक इसी आसन में बैठे ,और धीरे धीरे नियमित आसन को करते हुए इसे १ घंटे तक ले जाए। 




Health Benefits Of The Lotus Pose (Padmasana) | पद्मासन के लाभ 


Health Benefits Of The Lotus Pose (Padmasana) | पद्मासन के लाभ

  1. इस आसन को ध्यान करने के लिए सर्वोत्तम माना गया है। 
  2. पद्मासन का अभ्यास करने से एकाग्रता क्षमता बढ़ती है ,तथा स्मरणशक्ति मजबूत होती  है। 
  3. इसका नियमित अभ्यास शरीर में स्थिरता को बढ़ाता है।
  4. जब तक शरीर स्थिर नहीं रहता ,तब तक मन को भी स्थिर नहीं रखा जा सकता इसलिए मन को स्थिर करने के लिए पद्मासन परम उपयोगी है। 
  5. मानव शरीर में सात प्रकार के सूक्ष्म ऊर्जा चक्र होते है ,जिनसे हमें ऊर्जा मिलती है। पद्मासन के द्वारा शरीर में स्थित प्राणशक्ति को मूलाधार चक्र से सहस्त्रार चक्र तक पहुंचाया जाता है।
  6. जिन्हे मानसिक रूप से अधिक काम करना पड़ता है उन्हें इस आसन का अभ्यास जरूर करना चाहिए।
  7. इसके नियमित अभ्यास से चेहरे पर से उदासी , तनाव ,झुरिया खत्म हो जाती है। त्वचा कोमल बनी रहती है।
  8. प्रतिदिन इसके अभ्यास से वात, पित्त और कफ इन तीनो दोषो से मुक्ति मिल जाती है।
  9. गले के रोग ,थॉयरॉइड जैसी समस्याएं दूर होती है। 
  10. नपुंसकता को दूर कर बल प्रदान करता है।
  11. स्त्रियों के मासिक धर्म में होनेवाली समस्याओ से मुक्ति दिलाता है। 
  12. गर्भवती स्त्रियों के लिए भी ये आसन उत्तम रसायन है। 


आप अब जान चुके है की " पद्मासन कैसे करे , इसके क्या लाभ है ?"  फिर भी कुछ पूछना चाहते है तो आप कमेंट कर के पूछ सकते है।

Comments